सही जानकारी प्राप्त करना मायने रखता है / Getting the right information matters

कभी-कभी लोगों को गलत जानकारी या धोखा देने के लिए जानबूझकर ऐसी जानकारी को प्रकाशित किया जाता है। जब जानकारी को इस तरह से प्रकाशित किया जाता है तो कभी-कभी इसे झूठी खबर, गलत सूचना या कन्स्पिरेसी थ्योरी (षड्यंत्र का सिद्धान्त) के नाम से जाना जाता है।

गलत सूचना हमारे खिलाफ ऐसे समय में काम करती है जब हमें वायरस को हराने के लिए साथ मिलकर काम करने की जरूरत होती है। यह डर या भ्रम को फैला सकती है या लोगों को सही काम करने से रोक सकती है।

हम गलत सूचना को नहीं रोक सकते, लेकिन हम इसे पहचानने में एक दूसरे की मदद कर सकते हैं। यह अक्सर:

  • किसी ऐसे व्यक्ति के जरिए आती है जो अनाम है
  • सरकारी एजेंसियों की अंदरूनी जानकारी प्राप्त करने का दावा करता है लेकिन स्रोत की पहचान नहीं करवाता
  • इस बात का दावा करता है कि वे ऐसी जानकारी का साझा कर रहे हैं जो जनता से छिपाई गई है या अधिकारी नहीं चाहते कि आपको वह जानकारी प्राप्त हो।
  • लगभग हमेशा दावा करता है कि 'असली कहानी' आधिकारिक सूचना से भी बदतर है।

इस तरह के समय में:

  • सावधान रहें कि आप किस जानकारी पर ध्यान देते हैं
  • दूसरों के पास भेजने से पहले उस जानकारी की गुणवत्ता की जाँच करें।

आप सरकारी मीडिया ब्रीफिंग, वेबसाइटों या सोशल मीडिया चैनलों से भरोसेमंद जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

नकली या झूठे समाचारों को समझने और पहचानने में मदद यहाँ उपलब्ध है (external link)